परीक्षा का तनाव दूर कैसे करें ? Exam की टेंशन कम कैसे करें ?

नमस्कार दोस्तों, हिंदी अपडेट (Hindi Update) में आपका स्वागत हैं | आज हम आपको बताएँगे की “परीक्षा का तनाव दूर कैसे करें” अगर आपको इसके बारे में जानना है तो हमारे इस आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़े | हम आपको अपने इस आर्टिकल के द्वारा इसके बारे में पूरी जानकारी प्रदान करेंगे |

सभी छात्रों की परीक्षा का तनाव (Exam Stress) एक आम समस्या होती है। बहुत सारे छात्र ऐसे होते हैं जो अपनी परीक्षा के दिनों में तनाव का अनुभव करते हैं। एक छात्र चाहे जितनी भी तैयारी कर ले लेकिन वे कम अंक प्राप्त करने या परीक्षा में असफल होने के डर से तनाव महसूस करता हैं। वहीं दूसरी तरफ जो छात्र अपना टाइम बर्बाद करके तैयारी नहीं कर पाते हैं, वे परीक्षा के समय गंभीर तनाव का सामना करते हैं।

Exam का तनाव असफल होने या परीक्षा में कम अंक प्राप्त करने के डर को जन्म देता है। जब छात्र की परीक्षा शुरू हो जाती है तो एक छात्र को अगले पेपर की तैयारी करने के लिए एक या दो दिन का ही समय मिल पाता है। जिसके कारण वे दबाव में आ जाते हैं और उन्हें चिंता होने लगती है कि अगर मैं अपनी तैयारी पूरी नहीं कर पाता हूँ या अगर मैं परीक्षा में असफल हो जाता हूँ या अगर मुझे परीक्षा में कम नंबर मिलते हैं, इन्ही सब बातों को ले कर चिटा होने लगती हैं और यही चिंता परीक्षा के तनाव का कारण बनता हैं | तो चलिए जानते हैं की परीक्षा का तनाव दूर कैसे करें ?     

परीक्षा का तनाव छात्रों को किस प्रकार प्रभावित करता है?

परीक्षा का तनाव निम्नलिखित तरीकों से छात्रों को प्रभावित करता है।

  • यह छात्रों को परीक्षा के दौरान पढ़ाई करने और तैयारी करने से रोकता है। विद्यार्थी को अध्ययन के दौरान अपने विषय पर ध्यान केंद्रित करना कठिन लगता है और वे पुस्तकों को छोड़ भी सकते हैं।
  • यह अच्छी तरह से तैयार छात्र को भी प्रभावित करता है। जिन छात्रों ने अच्छी तैयारी की है और उन्हें अपने पाठ्यक्रम को Revise करने की आवश्यकता है, क्योंकि वे भी प्रतिकूल रूप से प्रभावित हो सकते हैं परीक्षा के तनाव से।
  • स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं यानि उल्टी, दस्त, सिरदर्द, बुखार परीक्षा के गंभीर तनाव से हो सकते हैं।
  • परीक्षा हॉल में पेपर लिखते समय तनाव परीक्षा में छात्र के समग्र प्रदर्शन को प्रभावित करता है। वह Paper में सवाल का जवाब देने के बारे में सब कुछ भूल सकते हैं। हो सकता है कि वे प्रश्न के उत्तर देने में सक्षम न हो क्योंकि वे तनाव के कारण पेपर पर ध्यान केंद्रित नहीं कर सकते हैं।
  • परीक्षा का तनाव परीक्षा में आपके Score को कम करता है।

एग्जाम की तैयारी करने के लिएअगर आपके पास समय नहीं रहा तब आप सब कुछ छोड़कर जो समय बचा है उसका अच्छे से इस्तेमाल कर आप परीक्षा में अच्छा कर सकते हैं। ये सब कैसे करना है इसका तरीका हम आपको यहाँ बता रहे है, आप इस आर्टिकल में बताई बातों को ध्यान से पढ़े और अच्छे से समझ लें।

यह भी पढ़े:

> CA Kya Hai Kaise Bane – योग्यता, कार्य, फीस और वेतन

> IBPS Kya Hai – IBPS के लिए योग्यता, वेतन, सिलेबस की जानकारी

> एग्जाम की तैयारी कैसे करें – 10 जरुरी टिप्स

> School Teacher Kaise Bane – योग्यता, एग्जाम और सैलरी

> BBA Kya Hai, Kaise Kare – फीस, सैलरी, योग्यता, एग्जाम

परीक्षा का तनाव दूर कैसे करें ?

पढाई के तनाव से राहत पाने के लिए यहां कुछ महत्वपूर्ण सुझाव दिए गए हैं। ये तरीके वास्तव में एक छात्र को परीक्षा के तनाव से राहत दिलाने में मदद करेंगे।

1. कम समय का उचित उपयोग करें

यदि आप परीक्षा के लिए अच्छी तरह से तैयार नहीं हैं तो परीक्षा का तनाव आपको अधिक प्रभावित करता है। यह तब होता है जब आपने अपना पढ़ने का पूरा समय बर्बाद कर दिया है और अब आपके पास अपने अगले पेपर की तैयारी करने के लिए केवल एक या दो दिन हैं।

ऐसी स्थिति में आपको यह सोचकर खुद को प्रोत्साहित करने की आवश्यकता है कि आपकी तैयारी के लिए एक दिन या दो दिन भी पर्याप्त समय है। यदि आप इस सीमित समय का उपयोग अच्छे तरीके से करते हैं, तो यह आपकी सफलता सुनिश्चित कर सकता है।

तनाव के समय भी खुद को उपलब्ध समय का उपयोग करने से न रोकें क्योंकि अंतिम दिन की तैयारी अधिक मायने रखती है। यहां तक ​​कि अगर आप अपने पेपर के लिए परीक्षा के उस कम समय में भी अच्छा काम करते हैं, तो भी आप बहुत बड़ा बदलाव कर सकते हैं। अधिकांश छात्र केवल पेपर का रात को अध्ययन करके परीक्षा में उच्च अंक प्राप्त करते हैं।

2. चीजों को हल्के में न ले 

कुछ चीजें ज्यादा गंभीर नहीं होती है जो आपको प्रभावित कर सकती हैं। कभी भी परीक्षा में विफलता को इतना गंभीर न समझें कि यह आपके प्रदर्शन को प्रभावित करे और आपको असफलता की ओर ले जाए।

अगर आप असफलता से बचना चाहते हैं, तो अपने तनाव से निपटें। तैयारी करने से रोकने के लिए अपने परीक्षा तनाव को दूर होने दें। कड़ी मेहनत करें और सोचें कि कम अंक प्राप्त करने से भी कुछ ग़लत नहीं होगा।

ऐसी स्थिति में बहादुरी का प्रदर्शन करें। सोचें कि आप ज्यादा से ज्यादा मेहनत करेंगे, फिर भी अगर कम अंक आएंगे तो आप फिर से कोशिश करेंगे। आप अन्य छात्रों की तरह ही सोचें जो आपके समान क्षमता वाले हैं। ऐसा सोचें की वे भी वही परीक्षा देंगे और परीक्षा हम सभी के लिए समान रूप से आसान या कठिन होगी।

यह भी पढ़े:

> IPS Kaise Bane – पूरी जानकारी हिंदी में

> SSC Kya Hai, SSC की तैयारी कैसे करे ?

> MBA क्या हैं, कैसे करे ? – पूरी जानकारी हिंदी में

> UPSC Exam क्या हैं और इसमें पोस्ट कितने होते हैं ?

3. अपने आप को कुछ आराम दें

परीक्षा का तनाव किसी छात्र पर इतना प्रतिकूल प्रभाव डाल सकता है कि उसके लिए किताब खोलना और शुरुआत करना बहुत मुश्किल हो जाता है। वह किताब पर ध्यान केंद्रित नहीं कर सकता, भले ही वह इसे खोलता हो।  ऐसे में आपको बहुत ही चतुराई से काम लेना होगा।

सोचें कि बिना शुरुआत के आप कभी भी कुछ हासिल नहीं करेंगे। आपको एक शुरुआत करनी होगी। खेल खेलकर या संगीत सुनकर अपने तनाव को दूर करने के लिए खुद को आराम या तरोताजा करना बेहतर है। परीक्षा तनाव के बारे में भूल जाएं और एक अच्छी शुरुआत करें।

4. ईश्वर पर विश्वास रखें

हमारे सभी कार्य ईश्वर की इच्छा से संचालित होते हैं जो हमेशा मानव जाति के लिए दयालु होते हैं। अपनी बेहतरी के लिए हमेशा ईश्वर से आशान्वित रहें और दृढ़ विश्वास रखें कि ईश्वर आपकी हमेशा मदद करेंगे।

जो कुछ वह करते है उसे सोचें और स्वीकार करें, हमारे लिए सबसे अच्छा है। ऐसा सोचें कि वह हमेशा हमारे जीवन की हर अप्रिय स्थिति में हमारी मदद करते है।

यह भी पढ़े:

> JEE Advanced क्या हैं, इसकी योग्यता कितनी होनी चाहिए ?

> NEET Exam क्या हैं तैयारी कैसे करे ?

> IIT क्या हैं, IIT की तैयारी कैसे करे ?

> LLB क्या हैं, कैसे करे – पूरी जानकारी

5. असफलता के विषय में न सोचें

तनाव हमेशा निराशावाद का उत्पाद है। जब आप चीजों के नकारात्मक पक्ष पर सोचते हैं, तो आप अपने आप को अध्ययन के अधिक अधीन करते हैं। अपने परीक्षा तनाव को दूर करने के लिए आपको अपनी परीक्षा के बारे में आशावादी होना चाहिए। इसका मतलब है कि अपनी परीक्षा में सफलता के बारे में सोचें।

परीक्षा में असफलता के नकारात्मक विचारों के बारे में कभी न सोचें जिसके परिणामस्वरूप परीक्षा का तनाव होता है। आप यह सोचकर खुद को प्रोत्साहित करे कि आप एक अच्छे और ऊर्जावान छात्र हैं तभी आप आसानी से परीक्षा में अच्छा स्कोर कर पाएंगे | 

6. तैयारी के बारे में दोस्तों से न पूछें

परीक्षा के दिनों में अधिकांश छात्र, अपने दोस्तों को कॉल या Message करते हैं और उनसे परीक्षा के लिए उनकी तैयारी की स्थिति के बारे में पूछते हैं। जब आपको यह पता चलता है कि आपके दोस्त ने बहुत तैयारी की है और आपने अभी तक कुछ नहीं किया है, तो यह आपके लिए एक गंभीर चिंता का विषय बन जाता है।

यदि आपको यह पता चलता है कि आपने अपने दोस्त की तुलना में बहुत कम तैयारी की है तो यह आपके भीतर डर पैदा करेगा समय पर पढ़ाई पूरी न करने का। आपको केवल उस समय के बारे में सोचना चाहिए जो आपने अपने पढ़ाई के समय में उचित उपयोग किया था और उस समय के बारे में कभी नहीं सोचें जो आपने बर्बाद किया था।

परीक्षा के दिनों के दौरान, उन दिनों और समय को कभी याद न करें जिन्हें आपने अपने पूरे शैक्षिक सत्र में बर्बाद किया था। यह आपको परीक्षा में अधिक तनाव देगा। अब इसके बारे में सोचने का कोई फायदा नहीं है।

उन दिनों को याद करने की कोशिश करें, जिनमें आपने अपनी पुस्तकों का अध्ययन किया है। यह आपको प्रोत्साहित करेगा और आपका आत्मविश्वास बढ़ाएगा कि आपने अभी तक परीक्षा में अच्छा करने के लिए बहुत कुछ किया हैं और बहुत कुछ सीखा भी है।

यह भी पढ़े:

> B.Tech कोर्स क्या हैं, कैसे करे ?

> Computer Operator क्या हैं, Computer Operator कैसे बने ?

> Raw Agent Kaise Bane – परीक्षा, भर्ती प्रक्रिया, योग्यता और वेतन

> News Reporter कैसे बने ?

> BDS क्या है कैसे करें – कोर्स, फीस, फायदे और सैलरी

निष्कर्ष (Conclusion)

हमने इस पोस्ट में आपको “ परीक्षा का तनाव दूर कैसे करें के बारे में बताने का प्रयास किया मुझे उम्मीद है की आपको मेरा यह लेख जरूर पसंद आया होगा | अगर आपके मन में इस Article को लेकर कोई भी Doubts है या आप चाहते है की इसमें कोई सुधार हो तो आप हमें नीचे दिए Comment करके बता सकते हैं | जहाँ पर आपकी परेशानी को हल करने की कोशिश हमारी पूरी टीम करेगी | अगर आपको हमारा पोस्ट पसंद आया तो आप हमारी इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा Social Media पर Share भी कर सकते हैं |

इस तरह की और जानकारी के लिए आप हमारी Blogging, Computer, Internet, Education, Money Making, Sarkari Yojna और Technology कैटेगरी भी देख सकते हैं और हमारे Facebook, Instagram, Youtube, LinkedIn, Twitter और Quora पेज को भी Follow कर सकते हैं |

Please follow and like us:

Snehil Goyal

नमस्कार दोस्तों, मैं स्नेहिल हिंदी अपडेट (Hindi Update) का संस्थापक हूँ, Education की बात करूँ तो मैं Graduate हूँ, मुझे बचपन से ही लिखने का काफी शौक रहा हैं इसलिए यहाँ पर मैं नियमित रूप से अपने पाठकों के लिए उपयोगी और मददगार जानकारी शेयर करता रहता हूँ |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *