Job Vs Business में क्या अंतर हैं ?

नमस्कार दोस्तों, हिंदी अपडेट (Hindi Update) में आपका स्वागत हैं | हम यहाँ पर आप सभी लोगों के लिए सारी जानकारी हिंदी में लेकर उपस्थित हुए हैं | दोस्तों आज हम आपको “Job Vs Business जॉब और बिज़नेस में क्या अंतर हैं ?” के बारे में बताने जा रहे हैं अगर आपको जॉब और बिज़नेस के बारे में पूरी जानकारी चाहिए तो हमारे इस आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़े | हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से इसके बारे में पूरी जानकारी प्रदान करेंगे |

जॉब और बिज़नेस में क्या अंतर हैं |

जीवन में हर इंसान अपने करिअर को लेकर चिंतित रहता है, चाहे वो कुछ भी काम करे, पर संतुष्ट नहीं रहता | हमेशा दिल में रहता है की मुझे कुछ और करना चाहिए, मुझसे ये काम नहीं होगा, और इसकी शुरुआत पढ़ाई के समय से ही होता है, और इसमें सबसे बड़ा टॉपिक जॉब और बिज़नेस पर ही रहता है |

जिसे चुनने में हर किसी को परेशानी होती है | मुझे उम्मीद है की इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आप आसानी से समझ जायेंगे की आपको जॉब करनी चाहिए या बिज़नेस | तो चलिए जानते है जॉब और बिज़नेस में क्या फर्क है, और आपके लिए क्या बेस्ट हैं |

नौकरी (Job):-

दोस्तों नौकरी का सीधा मतलब होता है किसी के यहाँ काम करके बदले में एक निश्चित समय पर पैसा लेना | नौकरी करना मतलब आपको किसी के अधीन रहकर काम करना होगा, आपको जो आदेश दिया जायेगा वही आपको करना होगा |

इसके अलावा नौकरी का एक निश्चित समय होता है, यानि आपको एक निर्धारित समय तक ही काम करना होगा | नौकरी में कही कही पर प्रमोशन भी मिलते रहते है | नौकरी भी कई प्रकार की होती हैं:-  

1. सरकारी नौकरी 

सबसे अच्छी नौकरी की बात की जाये तो सरकारी नौकरी सबसे अच्छी मानी जाती है | क्योंकि इसमें आपको सरकार द्वारा न केवल सैलरी दी जाती है बल्कि आपको प्रमोशन के साथ साथ सारी सुविधाएं दी जाती है, और रिटायरमेंट के बाद पेंशन भी सरकार द्वारा दिया जाता हैं | सरकारी नौकरी में बिना टेंशन के जीवन बीतता है | यही कारण है की युवा सरकारी नौकरी के पीछे भागते हैं | 

2. प्राइवेट लिमिटेड नौकरी

दूसरे नंबर पर आता है प्राइवेट लिमिटेड नौकरी, इस नौकरी में भी लगभग सभी नियम वही होते है, जो की सरकारी नौकरी में होते हैं | बस इसमें आपको बुढ़ापे में पेंशन नहीं मिलता है | अगर आप काम सिखने के लिए नौकरी करते है, तो यह भी आपके लिए बढ़िया है, इसमें भी आपका भविष्य है, क्योंकि एक दिन आप खुद वो काम शुरू कर सकते हैं |

लिमिटेड कंपनी में आपको अच्छी सैलरी के साथ प्रमोशन्स भी मिलते रहते है, और हर साल आपकी सैलरी भी बढ़ती रहती  है, और इसमें आपको आगे बढ़ने का मौका मिलता रहता है | इसके अलावा प्राइवेट लिमिटेड नौकरी में जब तक आप काम करने के लायक होते है तभी तक आपको नौकरी पर रखा जाता है | उसके बाद आपको काम से हटा दिया जाता हैं | 

3. सभी नौकरियां

ये नौकरी किसी वर्कशॉप से लेकर बैंक के चपरासी तक या उससे भी निचे की होती है | इस प्रकार की नौकरी का कोई भविष्य नहीं होता है क्योंकि इसमें किसी प्रकार का नियम नहीं होता है |

आपका मालिक आपको कभी भी निकाल सकता है, सैलरी बहुत कम  होती है, और मेहनत ज्यादा करनी पड़ती है, अगर देखा जाये तो इस प्रकार की नौकरी बहुत ही ख़राब किस्म की होती है | आपको जितनी सैलरी मिलती है उसमे आप सिर्फ खानापूर्ति ही कर सकते है, आप  ज्यादा बचत नहीं कर सकते |    

बिज़नेस (Business):-

दोस्तों बिज़नेस का सीधा मतलब होता है, जिसमे आप खुद का कोई काम करे जिससे आपको मुनाफा हो, जिसमे सिर्फ आपकी मर्जी चलती हो, बिज़नेस कहलाता हैं |  बिज़नेस में आपको किसी के अधीन होकर काम नहीं करना होता है, इसमें कोई आदेश देने वाला नहीं होता है, इसमें कोई समय सीमा नहीं होती है, और आप जब चाहे अपना बिज़नेस शुरू कर सकते है | देखा जाये तो एक स्वतंत्र रूप से काम करना ही बिज़नेस कहलाता है |

< बिज़नेस पूरी तरह आपके परफॉरमेंस पर डिपेंड करता है, जरा सी भी चूक की आपको भरी कीमत चुकानी पड़ सकती है |

< जब आप खुद का बिज़नेस करते है तो आपको फुल फ्रीडम मिलती हैं, आप जब चाहे काम कर सकते है, और जब चाहे छुट्टी ले सकते हैं |

< आप खुद का बिज़नेस करते है तो आपका उसपर फुल कण्ट्रोल होता है, आप जब चाहे अपने बिज़नेस में कोई भी बदलाव कर सकते है |

< बिज़नेस करने के लिए जगह का चुनाव आप खुद कर सकते है, अगर आप चाहे तो अपना बिज़नेस अपने घर से भी शुरू कर सकते है |

< अपने बिज़नेस को शुरू करने के लिए पहले मार्केट और इंडस्ट्री का रिसर्च कीजिये | मार्केट का रिसर्च करके पता लगाइये की डिमांड और सप्लाई क्या है, और सबसे ज्यादा कौन सा प्रोडक्ट बिक रहा है | 

दोस्तों बहुत सारे लोग आज जॉब के पीछे भाग रहे है और बहुत सारे लोग बिज़नेस फील्ड में आगे बढ़ रहे है और अच्छे लोगो को हायर करके उनसे काम करा रहे है |

निष्कर्ष (Conclusion) 

हमने इस पोस्ट में आपको “जॉब और बिज़नेस के बीच अंतर” के बारे में बताने का प्रयास किया | मुझे उम्मीद है की आपको मेरा यह लेख जरूर पसंद आया होगा | अगर आपके मन में इस Article को लेकर कोई भी Doubts है या आप चाहते है की इसमें कोई सुधार हो तो आप हमें नीचे दिए Comment करके बता सकते हैं | जहाँ पर आपकी परेशानी को हल करने की कोशिश हमारी पूरी टीम करेगी | अगर आपको हमारा पोस्ट पसंद आया तो आप हमारी इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा Social Media पर Share भी कर सकते हैं |

इस तरह की और जानकारी के लिए आप हमारी Blogging, Computer, Internet, Education, Money Making, Sarkari Yojna और Technology कैटेगरी भी देख सकते हैं और हमारे Facebook, Instagram, Youtube, LinkedIn, Twitter और Quora पेज को भी Follow कर सकते हैं |  

 

Share

Snehil Goyal

नमस्कार दोस्तों, मैं स्नेहिल हिंदी अपडेट (Hindi Update) का संस्थापक हूँ, Education की बात करूँ तो मैं Graduate हूँ, मुझे बचपन से ही लिखने का काफी शौक रहा हैं इसलिए यहाँ पर मैं नियमित रूप से अपने पाठकों के लिए उपयोगी और मददगार जानकारी शेयर करता रहता हूँ |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *