<

डिजिलॉकर (Digilocker) क्या है, और इसका उपयोग कैसे करे ?

नमस्कार दोस्तों, हिंदी अपडेट (Hindi Update) में आपका स्वागत हैं | हम यहाँ पर आप सभी लोगों के लिए सारी जानकारी हिंदी में लेकर उपस्थित हुए हैं | दोस्तों आज हम आपको “डिजिलॉकर (Digilocker) क्या है, और इसका उपयोग कैसे करे ?” के बारे में बताने जा रहे हैं अगर आपको डिजिलॉकर (Digilocker) के बारे में पूरी जानकारी चाहिए तो हमारे इस आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़े | हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से इसके बारे में पूरी जानकारी प्रदान करेंगे |

2014 से 2019 के बीच मोदी सरकार द्वारा भारत में डिजिटल क्रांति चलायी थी | इस क्रांति के जरिये सरकारी स्कीम्स और पेमेंट को डिजिटल बना दिया गया था | इसके कारण कई कंपनियां अस्तित्व में आयी जो घर बैठे ऑनलाइन रिचार्ज, पैसो के लेनदेन, बुकिंग के अलावा और भी बहुत सारी सुविधाएँ प्रदान करने लगी | उसी में एक है डिजिलॉकर |

डिजिलॉकर क्या है ? (What is Digilocker in Hindi)

DigiLocker Kya Hai

भारत सरकार  द्वारा 1 जुलाई 2015 को नागरिकों को पासपोर्ट,मार्कशीट, पैन कार्ड, और डिग्री प्रमाणपत्र जैसे अपने दस्तावेजों को ऑनलाइन सुरक्षित रखने के लिए डिजिटल लॉकर (Digital Locker) या डिजिलॉकर (Digilocker) की सुविधा शुरू की |

इस सुविधा को पाने के लिए उपयोगकर्ता के पास आधार कार्ड का होना अनिवार्य हैं | अगर आप आधार कार्ड से जुड़े हैं तो आप अपने दस्तावेज अपलोड कर सकते हैं | 

आसान शब्दों में कहे तो जिस प्रकार आप बैंक में अपने अपने गहनों आदि को सुरक्षित रखते हैं | ठीक उसी प्रकार डिजिलॉकर आपके डाक्यूमेंट्स को सुरक्षित रखता हैं | 

इसकी खास बात यह हैं की आप कभी भी कही भी अपने दस्तावेज को डिजिलॉकर के द्वारा स्टोर कर सकते हैं | डिपार्टमेंट ऑफ़ इलेक्ट्रॉनिक्स एंड इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी ने कुछ समय पहले ही इसका बीटा वर्जन लांच किया हैं | 

यह भारत सरकार द्वारा दी गई आपकी Personal Online Document Storage Facility हैं | डिजिलॉकर स्कीम के द्वारा जुड़े हुए हर व्यक्ति को 10MB का स्टोरेज स्पेस मिलता हैं | 

जहाँ पर सुरक्षित रूप से ई-दस्तावेजों और URI लिंक को रखा जा सकता हैं | जहाँ पर आप इन सभी कागजातों को E-Sign भी कर सकते हैं जो Self Attestation के प्रोसेस के सामान हैं | 

क्या डिजिलॉकर सुरक्षित हैं ?

डिजिलॉकर उतना ही सुरक्षित हैं जितना की हमारा बैंक अकाउंट या इंटरनेट बैंकिंग | इसका उपयोग करने के लिए सबसे पहले हमें साइन अप करना पड़ेगा | उसके लिए यूजर आईडी और पासवर्ड का प्रयोग करना होगा | आईडी और पासवर्ड के बाद हमें उसे आधार कार्ड से लिंक करना होगा | 

डिजिलॉकर में क्या-क्या रख सकते हैं ?

डिजिलॉकर में बहुत सारे डाक्यूमेंट्स रख सकते हैं जो निम्नलिखित हैं जैसे:-

  • Voter Id Card
  • Pan Card
  • Aadhar Card
  • Driving Licence
  • Income Tax Return
  • मकान के कागजात
  • जमीन के कागजात
  • सरकारी कागजात

डिजिलॉकर का उपयोग

  • डिजिलॉकर के उपयोग से आप अपने डिजिटल दस्तावेजों को कही भी और कभी भी ऑनलाइन शेयर कर सकते हैं | जिससे समय की बचत होती हैं |
  • यह सरकारी विभागों के प्रशासनिक भर को काम करता हैं |
  • अपलोड किये गए दस्तावेजों को डिजिटल रूप से ई-साइन सुविधा का उपयोग कर हस्ताक्षरित किया जा सकता हैं |

डिजिलॉकर के फायदे

इसके निम्नलिखित फायदे हैं जैसे:

  • इसके उपयोग से सभी डॉक्यूमेंट सुरक्षित रहते है, और डॉक्यूमेंट खोने का कोई डर नही होता है। इसमें यह बिल्कुल Safe रहते है।
  • इसकी मदद से डॉक्यूमेंट एक्सेस करना आसान होता हैं |
  • आप कोई भी डॉक्यूमेंट को किसी के साथ ऑनलाइन शेयर भी कर सकते है।
  • इसमें डॉक्यूमेंट कभी भी खराब नहीं होते हैं | डॉक्यूमेंट की हार्ड कॉपी कुछ सालों में खराब हो जाती है उसके पेज खराब होने लगते है। लेकिन डिजिलॉकर में आपके डॉक्यूमेंट कभी खराब नहीं होते।

डिजिलॉकर में डाक्यूमेंट्स कैसे अपलोड करें?

  • डॉक्यूमेंट अपलोड करने के लिए सबसे पहले डिजिलॉकर पर लॉग इन करें |
  • सबसे पहले डिजिलॉकर पर लॉग इन करें |
  • उसके बाद बाईं ओर Uploaded Documents पर जाएं और अपलोड पर क्लिक करें |
  • उसके बाद डॉक्यूमेंट के बारे में संक्षिप्त विवरण लिखें |
  • और अंत में अपलोड बटन पर क्लिक करें |

निष्कर्ष (Conclusion) 

हमने इस पोस्ट में आपको “डिजिलॉकर (Digilocker) क्या है, और इसका उपयोग कैसे करे” के बारे में बताने का प्रयास किया | मुझे उम्मीद है की आपको मेरा यह लेख जरूर पसंद आया होगा | अगर आपके मन में इस Article को लेकर कोई भी Doubts है या आप चाहते है की इसमें कोई सुधार हो तो आप हमें नीचे दिए Comment करके बता सकते हैं | जहाँ पर आपकी परेशानी को हल करने की कोशिश हमारी पूरी टीम करेगी | अगर आपको हमारा पोस्ट पसंद आया तो आप हमारी इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा Social Media पर Share भी कर सकते हैं |

Hindi Update

www.hindime4u.in

नमस्कार दोस्तों, मैं स्नेहिल हिंदी अपडेट (Hindi Update) का संस्थापक हूँ, Education की बात करूँ तो मैं Graduate हूँ, मुझे बचपन से ही लिखने का काफी शौक रहा हैं इसलिए यहाँ पर मैं नियमित रूप से अपने पाठकों के लिए उपयोगी और मददगार जानकारी शेयर करता रहता हूँ |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!