Black Box क्या होता है इसका इस्तेमाल क्यों किया जाता है ?

नमस्कार दोस्तों, हिंदी अपडेट (Hindi Update) में आपका स्वागत हैं | आज हम आपको बताएँगे की “Black Box क्या होता है और इसका इस्तेमाल क्यों किया जाता है” अगर आपको इसके बारे में जानना है तो हमारे इस आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़े | हम आपको अपने इस आर्टिकल के द्वारा इसके बारे में पूरी जानकारी प्रदान करेंगे |

किसी भी प्लेन या हेलीकॉप्टर का सबसे अहम हिस्सा होता हैं ब्लैक बॉक्स | वैसे कहते तो इसे Black Box है लेकिन यह ऑरेंज कलर का होता है | जब भी विमान में कुछ हताहत होता है या विमान दुर्घटना का शिकार होता हैं तब किसी भी पायलट, क्रू-मेंबर या किसी व्यक्ति का बच पाना मुश्किल होता हैं और वह विमान क्षतिग्रस्त हो जाता है या उस विमान में आग लग जाती है |

ऐसे में जब विमान दुघर्टनाग्रस्त होता है और व्यक्ति की मृत्यु हो जाती हैं तो विमान के दुर्घटनाग्रस्त होने के कारण का पता लगाना बहुत ही मुश्किल हो जाता हैं | इसलिए विमान के दुर्घटना के कारणों का पता लगाने के लिए हर विमान में एक उपकरण लगा होता हैं, जिसे Black Box कहा जाता है | यह Black Box उड़ान के दौरान किसी भी विमान की सभी गतिविधियों को रिकॉर्ड करता हैं |

इस Black Box को फ्लाइट डाटा रिकॉर्डर भी कहा जाता हैं | यह दुनिया के सबसे मजबूत धातु टाइटेनियम से बना होता है, जिसपर बड़े से बड़े धमाके का कोई असर नहीं होता है | आज हम इसी Black Box के बारे में आपको बताने जा रहे है कि ब्लैक बॉक्स क्या होता है और ये क्या काम आता है, प्लेन या हेलिकॉप्टर में इसका इस्तेमाल क्यों किया जाता है, ब्लैक बॉक्स काम कैसे करता है | अगर आप Black Box के बारे में नहीं जानते है तो इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ने के बाद आपको इसके बारे में पूरी जानकारी मिल जाएगी | 

ब्लैक बॉक्स क्या है – What is Black Box in Hindi

ब्लैक बॉक्स या फ्लाइट डाटा रिकॉर्डर विमान का ऐसा उपकरण हैं जो उड़ान के दौरान होने वाली सारी गतिविधियों को ऑटोमेटिकली रिकॉर्ड करता है | यह ब्लैक बॉक्स इन्वेस्टीगेशन के दौरान विमान के दुर्घटनाग्रस्त हो जाने के कारणों का पता लगाने में मदद करता हैं |  

जब भी कोई विमान हादसा होता है तो लोगों के दिमाग में एक बात जरूर आती है कि जांच एजेंसियां उस विमान का black box क्यों तलाश करती हैं। आखिर इसमें ऐसा क्या होता है जो हादसे का हर राज खोल देता है। दरअसल हादसे के कारणों का पता लगाने के लिए हवाई जहाज में ब्लैक बॉक्स लगाया जाता है।

हवाई जहाज ब्लैक बॉक्स या फ्लाइट डेटा रिकॉर्डर, उड़ान के दौरान विमान से संबंधित सभी प्रकार की गतिविधियाँ को रिकार्ड करता है। जैसे कि विमान की दिशा, ऊंचाई, ईंधन, गति, केबिन तापमान आदि। यह 25 घंटों की रिकॉर्ड की गई गतिविधियों की जानकारी एकत्र करता है।

ब्लैक बॉक्स दुनिया के सबसे मजबूत धातु टाइटेनियम से बना एक डिब्बा होता है वो चीज जो विमान की गतिविधियों को रिकार्ड करती है वो इसके अंदर होती है। यह ब्लैक बॉक्स चाहे कितनी भी ऊचाई से जमीन पर या समुन्द्र में गिर जाए इसका कुछ नहीं बिगड़ता है। यह किसी प्लेन के क्रैश होने के बाद लगभग 25 से 30 दिन तक ऑन रहता है ताकि इसे आसानी से ट्रैक किया जा सके। ब्लैक बॉक्स के अन्दर इलेक्ट्रॉनिक चिप इत्यादि लगी होती है जिसमे डाटा रिकॉर्ड होता है।

यह भी पढ़े:

> Wazirx से Bitcoin कैसे ख़रीदे ?

> Dhani App से पैसे कैसे कमाए ?

> MPL से पैसे कैसे कमाए ?

> Blogging क्या है, इससे पैसे कैसे कमाए ?

क्यों इस्तेमाल किया जाता है Black Box का

Black Box का इस्तेमाल विमान के साथ घटी घटना या दुर्घटना का पता लगाने के लिए किया जाता है, क्योंकि आजकल हवाई हादसे बहुत ज्यादा बढ़ चुके है | इसलिए हवाई हादसों से बचने और इसके बारे में सही जानकारी के लिए ताकि भविष्य में में ऐसी घटना की सम्भावना कम हो,  के लिए इस Black Box का इस्तेमाल किया जाता है |

ब्लैक बॉक्स का इतिहास

ब्लैक बॉक्स के इतिहास की बात की जाये तो इसका इतिहास 60 साल से भी पुराना है | 50 के दशक में हवाई हादसों की संख्या में संख्या में बहुत तेजी आ गयी | तब विमान की सुरक्षा एवं उसकी निगरानी के लिए एक उपकरण का सुझाव माँगा गया जो विमान हादसा हो जाने के बाद और किसी की जान न बचने के बावजूद घटित घटनाओं के बारे में पता लगाने में मदद कर सके, ताकि उन खामियों को सुधारकर भविष्य में होने वाले हादसों से बचा जा सके |

इन्ही सब बातों को ध्यान में रखते हुए 1954 में शोधकर्ता डेविड वॉरेन के द्वारा डाटा रिकॉर्डर उपकरण का आविष्कार किया गया और उसे Black Box नाम दिया | वैसे तो ब्लैक बॉक्स दिखने में में लाल रंग का होता है जिसे Red Egg भी कहा जाता था लेकिन इसका भीतरी भाग काला होने के इसे ब्लैक बॉक्स कहा जाने लगा |

विमान में ब्लैक बॉक्स कहा रहता है 

किसी भी विमान में ब्लैक बॉक्स उसके पिछले हिस्से में लगा होता है और इसको पीछे लगाने का एक कारण भी होता है क्योंकि जब कोई विमान क्रैश होता है तो उसका पिछले हिस्सा कम क्षतिग्रस्त होता है इसी कारण से ब्लैक बॉक्स को पीछे लगाया जाता है | ताकि बाद में इन्वेस्टीगेशन टीम के द्वारा जाँच में दुर्घटना के कारणों का पता लगाया जा सके | 

यह भी पढ़े:

> इन्टरनेट से ऑनलाइन पैसे कैसे कमाए ?

> Youtube से पैसे कैसे कमाए ?

> Amazon से पैसे कैसे कमाएं ?

> Roposo App क्या हैं, इसका यूज़ कैसे करे और इससे पैसे कैसे कमाएं ?

Black Box के अंदर क्या होता है 

Black Box के अंदर दो अलग-अलग तरह के बॉक्स होते है | 

1. Flight Data Recorder

यह विभिन्न प्रकार का डाटा जैसे विमान की ऊंचाई, दिशा, गति, ईंधन, हलचल और तापमान इत्यादि सहित 88 प्रकार के आकड़ों के बारे में 25 घंटो से अधिक की रिकॉर्ड की गयी जानकारी को एकत्र करता है | यह बॉक्स एक घंटे तक 11000 डिग्री सेल्सियस तक के तापमान को सहन कर सकता है और दस घंटे तक 260 डिग्री सेल्सियस तापमान सहन करने की क्षमता रखता है |

2. Cockpit Voice Recorder

Cockpit Voice Recorder पिछले 2 घंटों के दौरान विमान की आवाज़ को रिकॉर्ड करता हैं | यह इंजन की आवाज़, केबिन की आवाज़, आपातकालीन अलार्म ध्वनि और कॉकपिट ध्वनि को रिकॉर्ड करता है ताकि बाद में जाँच के दौरान यह पता चल सके की हादसे के वक़्त विमान का माहौल कैसा था |

यह भी पढ़े:

> Google से पैसे कमाने के तरीके

> Telegram क्या हैं इससे पैसे कैसे कमाए ?

> Bitcoin क्या हैं, इसे कैसे Earn किया जाता हैं ?

> ऑनलाइन पैसा कमाने के 10 तरीके

> Blogging से पैसे कैसे कमाएं – 7 बेहतरीन तरीके

निष्कर्ष (Conclusion)

हमने इस पोस्ट में आपको “Black Box क्या होता है और इसका इस्तेमाल क्यों किया जाता है ?” के बारे में बताने का प्रयास किया मुझे उम्मीद है की आपको मेरा यह लेख जरूर पसंद आया होगा | अगर आपके मन में इस Article को लेकर कोई भी Doubts है या आप चाहते है की इसमें कोई सुधार हो तो आप हमें नीचे दिए Comment करके बता सकते हैं | जहाँ पर आपकी परेशानी को हल करने की कोशिश हमारी पूरी टीम करेगी | अगर आपको हमारा पोस्ट पसंद आया तो आप हमारी इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा Social Media पर Share भी कर सकते हैं |

इस तरह की और जानकारी के लिए आप हमारी Blogging, Computer, Internet, Education, Money Making, Sarkari Yojna और Technology कैटेगरी भी देख सकते हैं और हमारे Facebook, Instagram, Youtube, LinkedIn, Twitter और Quora पेज को भी Follow कर सकते हैं |

      

  

Please follow and like us:

Snehil Goyal

नमस्कार दोस्तों, मैं स्नेहिल हिंदी अपडेट (Hindi Update) का संस्थापक हूँ, Education की बात करूँ तो मैं Graduate हूँ, मुझे बचपन से ही लिखने का काफी शौक रहा हैं इसलिए यहाँ पर मैं नियमित रूप से अपने पाठकों के लिए उपयोगी और मददगार जानकारी शेयर करता रहता हूँ |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *